१७ नवंबर को निकलेगी रामटेक शोभायात्रा…

    रामटेक – राजू कापसे

    कोरोनाकाल में गत दो वर्षों से खंडीत हुई रामटेक की शोभायात्रा इस वर्ष कोविड के शिथील नियमों के बिच वैकुंठ चर्तुदशी के दिन 17 नवंबर की शाम केवल पांच झाँकियों के साथ निकलेगी। दूसरे दिन त्रिपूरी पूर्णिमा के पर्व पर 18 नवंबर की शाम काकडआरती भक्त परिवार द्वारा निकाली जानेवाली रामकृृष्ण रथयात्रा को भी कोविड की शर्थों पर अनुमती दी गई हैं।

    वहीं इसी दिन रात 12 बजे राम और लक्ष्मण मंदिर की चोंटी पर पारंपारिक रुप से त्रिपुर दहन होगा। जिससे दो वर्ष की प्रतिक्षा के बाद पुनः शुरु हो रहें इन्हं धार्मिक आयोजनों से रामटेकवासियों में हर्ष व्यक्त किया जा रहा हैं।

    भारतीय जनसेवा मंडल के तत्वावधान में गत 37 वर्षों से रामटेक में शोभायात्रा निकाली गई। जो गत दो वर्षों से खंडीत थी। इस बीच शोभायात्रा के सफल आयोजन के मुख्य आयोजक तथा अगस्ती मुनि आश्रम के संचालक गोपालबाबा की मृृृृत्यु हो गई ।

    गुरुवार को शाम 4 बजे स्थानीय उपविभागीय राजस्व अधिकारी वंदना सवरंगपते के कक्ष में आयोजित सभा में कुछ निर्णय लिए गए। 17 नवंबर को श्री अठारहभुजा गणेश मंदिर से शोभायात्रा निकलकर लंबे हनुमान मंदिर शनिवारी वार्ड रामटैक में इसका समापन होगा। शोभायात्रा में 5 प्रतिकात्मक झाँकियां होगी। 200 से अधिक व्यक्तियों की भीड इकट्ठा नहीं की जा सकेगी। पुरस्कार नहीं हौंगे। अंत्यत सादगी से आयोजन होगा। इसी तरह मंडई मेले में केवल तीन मंडल प्रदर्शन करेंगे।

    बैठक में पर्यटक मित्र चंद्रपाल चौकसे, पं.स.सभापति श्रीमती कला ठाकरे, नगराध्यक्ष दिलीप देशमुख,उपाध्यक्ष अलोक मानकर,सुनिल रावत,गोपी कोल्लेपरा, शंकरराव चामलाटे,पी.टी.रघुवंशी,पिंटु शर्मा, शेखर बघेले,बबलु दूधबर्वे,तुलसीराम कोठेकर,मोहन कोठेकर,अमोल गाढवे,निलकंठराव महाजन,राजेश किंमतकर,रतिराममामा रघुवंशी सहित 50 सेअधिक नागरिक उपस्थित थे।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here